BIOS (Basic Input Output System) क्या है और यह क्या काम करता है?

BIOS (Basic Input Output System) के बारे में आपको जो कुछ भी जानना है। BIOS क्या है, इसे कैसे उपयोग करते है, यह कैसे काम करता है।

BIOS

BIOS (Basic Input Output System) computer की एक बेसिक software है जिसके बिना किसी भी कंप्यूटर का start होना संभव ही नहीं है। तो यदि आप BIOS के बारे में नहीं जानते तो इस article को आखिर तक पढ़े जिसमे आप जान पाएंगे की BIOS क्या है ( What is BIOS (Basic Input Output System) in Hindi ) यह कैसे काम करता है।

What is BIOS (Basic Input Output System) in Hindi

BIOS (Basic Input Output System) जो बेसिक इनपुट आउटपुट सिस्टम को दर्शाता है, यह मदरबोर्ड (motherboard) पर एक छोटी मेमोरी चिप ROM पर संग्रहीत सॉफ्टवेयर है। यह BIOS है जो POST (Power On Self Test) के लिए ज़िम्मेदार है और इसलिए कंप्यूटर शुरू होने पर POST को चलाने वाला BIOS पहला सॉफ्टवेयर है।

BIOS को by-oss के रूप में उच्चारित किया जाता है और कभी-कभी इसे system BIOS, ROM BIOS या PC BIOS के रूप में जाना जाता है।

हालाँकि, इसे गलत तरीके से Basic Integrated Operating System या Built-in Operating System के रूप में भी जाना जाता है।

नीचे दी गई तस्वीर एक उदाहरण है कि computer motherboard पर BIOS chip कैसा दिख सकता है। नीचे दिया गया उदाहरण चित्र एक प्रारंभिक AMIBIOS का है, AMI द्वारा निर्मित एक प्रकार का BIOS है।

BIOS

BIOS में basic computer hardware को लोड करने के instructions शामिल होते हैं। इसमें POST (Power-On Self-Test) के रूप में संदर्भित एक test भी शामिल है जो कंप्यूटर को ठीक से boot करने के लिए आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद करता है। यदि Computer POST को pass नहीं करता है, तो आपको computer में क्या खराबी है, यह दर्शाने के लिए beeps का एक संयोजन प्राप्त होता है।

BIOS किसके लिए उपयोग किया जाता है?

BIOS कंप्यूटर को निर्देश देता है कि booting और keyboard control जैसे बुनियादी कार्यों को कैसे किया जाए।

Computer में hard drive, floppy drive, optical drive, CPU, memory, और संबंधित उपकरणों जैसे hardware को पहचानने और कॉन्फ़िगर करने के लिए भी BIOS का उपयोग किया जाता है।

BIOS कैसे access करे। How to Access BIOS

BIOS

BIOS को Setup Utility के माध्यम से एक्सेस और कॉन्फ़िगर किया गया है। BIOS में सभी उपलब्ध विकल्प BIOS Setup Utility के माध्यम से कॉन्फ़िगर या एक्सेस किया जा सकता हैं।

आप BIOS को कंप्यूटर पर अन्य software की जिस तरह या विंडोज जैसे एक ऑपरेटिंग सिस्टम को download कर के computer पर इनस्टॉल करते है, उसी तरह BIOS को डाउनलोड कर के install नहीं किया जा सकता है। BIOS को निर्माता (manufacturer) द्वारा ही ROM memory chip में install किया जाता है, मशीन के निर्माण के क्षण से BIOS स्थापित होता है।

BIOS Setup Utility को आपके computer or motherboard और मॉडल के आधार पर विभिन्न तरीकों से एक्सेस किया जाता है।

PC BIOS के चार मुख्य कार्य होते है।

  • POST – POST एक टेस्ट है जो Computer Hardware का परीक्षण कर सुनिश्चित करता है कि ऑपरेटिंग सिस्टम को लोड करने से पहले कोई त्रुटि (errors) तो नहीं है।
  • Bootstrap Loader – Operating system का पता लगता है। और यदि एक capable operating system स्थित है, तो BIOS इसे pass control करेगा।
  • BIOS drivers – Low-level drivers जो कंप्यूटर को आपके computer के hardware पर basic operational control देते हैं।
  • BIOS setup या CMOS setup – Configuration program जो आपको हार्डवेयर सेटिंग्स को कॉन्फ़िगर करने की अनुमति देता है जिसमें सिस्टम सेटिंग्स जैसे computer passwords, time और date शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here